लिमिटेड इनकम से बनना चाहते हैं अमीर, तो इस तरह कीजिये …

लिमिटेड इनकम से बनना चाहते हैं अमीर, तो इस तरह कीजिये …

लिमिटेड इनकम से बनना चाहते हैं अमीर, तो इस तरह कीजिये म्यूचुअल फंड में निवेश

हममें से शायद ही कोई ऐसा होगा जो अमीर नहीं बनना चाहता, लेकिन इसकी राह में सबसे बड़ी बाधा लोगों की आमदनी है। जिन लोगों की आमदनी कम होती है, वे सोचते हैं कि वे कभी अमीर नहीं बन सकते। अगर आपकी आमदनी भी कम है और आप भी अमीर बनना चाहते हैं तो आज का यह लेख सिर्फ आपके लिए है।

ज्यादातर लोग शेयर बाजार में निवेश करते हैं और नुकसान झेलते हैं, आपने ऐसे लोगों को यह कहते सुना होगा कि शेयर बाजार बेकार है और इसमें निवेश करने का कोई फायदा नहीं है। असल कहानी यह है कि ऐसे लोग बिना किसी जानकारी के दूसरों की सलाह पर ही शेयर बाजार में निवेश करना शुरू कर देते हैं और नुकसान उठाते हैं। अगर आपको भी शेयर बाजार का ज्ञान नहीं है तो आप म्यूचुअल फंड में निवेश कर सकते हैं।

म्यूचुअल फंड कैसे काम करता है?
अगर हम शेयरों में निवेश करते हैं तो हमारा सारा निवेश एक कंपनी में होता है और अगर हमें शेयर बाजार का ज्ञान नहीं है तो हम उस कंपनी के भविष्य के बारे में नहीं बता सकते। जब हम म्यूचुअल फंड में निवेश करते हैं तो शेयर बाजार को समझने वाले विशेषज्ञ लोग होते हैं, जिन्हें फंड मैनेजर कहा जाता है और ऐसी कंपनियों को हमारे निवेश का प्रबंधन करने के लिए एसेट मैनेजमेंट कंपनियां कहा जाता है। वे एक ही कंपनी में निवेश करने के बजाय आपके निवेश को अलग-अलग जगहों (शेयर, बॉन्ड आदि) में लगाते हैं, जिससे आपके नुकसान की संभावना कम हो जाती है।

म्यूचुअल फंड चक्रवृद्धि ब्याज पर काम करते हैं, मान लीजिए कि आप पहले महीने में 100 रुपये निवेश करते हैं और 15% ब्याज कमाते हैं, तो अगले महीने यह राशि 115 रुपये हो जाएगी और फिर 115 रुपये पर 15% लाएगी। इसके साथ ही अगर आप अगले महीने में भी 100 रुपये निवेश करें तो दूसरे महीने में आपको अपने 215 पर 15% मिलेगा।

अब उदाहरण के तौर पर मान लेते हैं कि आप हर महीने 5 हजार रुपए 10 साल तक 15 फीसदी ब्याज पर निवेश करते हैं तो अगले 10 साल में आपका निवेश 6 लाख रुपए हो जाएगा और इस पर आपको 7 लाख 93 हजार 286 रुपए का रिटर्न मिलेगा। यानी कुल मिलाकर 13 लाख 93 हजार 286 रुपए मिलेंगे।

जैसे-जैसे आपकी आय बढ़ती है, आप म्यूचुअल फंड में निवेश की जाने वाली राशि को बढ़ा सकते हैं और उसी के अनुसार आपका रिटर्न भी बढ़ेगा। अगर आप म्यूचुअल फंड में लगातार निवेश करते हैं तो रिटायरमेंट के समय तक आप करोड़पति बन सकते हैं।

50 – 30 – 20 निवेश के नियम:
निवेश के 50 – 30 – 20 नियम को एलिजाबेथ वॉरेन और उनकी बेटी अमेलिया वॉरेन त्यागी ने अपनी 2005 की पुस्तक “ऑल योर वर्थ: द अल्टीमेट लाइफटाइम मनी प्लान” में समझाया है। इस नियम के अनुसार व्यक्ति को अपनी आय को 3 भागों में बांटना चाहिए:

बुनियादी जरूरतों पर 50%: एक व्यक्ति को अपनी आय का 50% किराया, ईएमआई, भोजन, परिवहन, कपड़े, बिल जैसी बुनियादी जरूरतों पर खर्च करना चाहिए। यह जरूरत व्यक्ति से व्यक्ति पर निर्भर करती है।
अन्य जरूरतों पर 30%: ये हमारी बुनियादी जरूरतों के अलावा अन्य खर्चे हैं, जैसे कार, छुट्टियां, महंगे कपड़े, इलेक्ट्रॉनिक्स गैजेट्स आदि, जिन पर हम अपनी आय का 30% खर्च कर सकते हैं।
निवेश पर 20% निवेश के 50 – 30 – 20 नियम के अनुसार हम अपनी आय का 20% निवेश कर सकते हैं।
निवेश के 50 – 30 – 20 नियम को आप अपने हिसाब से बदल भी सकते हैं। यदि आपकी आय अधिक है और आपको लगता है कि आप अन्य जरूरतों पर कम खर्च कर सकते हैं तो आप उस राशि का निवेश कर सकते हैं और इस नियम को 50-30-20 के बजाय 50-20-30 कर सकते हैं।

आपने अक्सर यह लाइन सुनी होगी कि म्यूचुअल फंड निवेश बाजार के जोखिम के अधीन होता है, लेकिन अगर आप एक अच्छे म्यूचुअल फंड में लगातार निवेश करते हैं, तो यह निवेश आपके भविष्य को सुरक्षित कर सकता है और आपको लगातार निवेश से समृद्ध बना सकता है।

मशहूर निवेशक और उद्योगपति वारेन बफे की एक उक्ति है कि

“कभी भी एकल आय पर निर्भर न रहें, बल्कि आय के अन्य स्रोत भी बनाएँ।”

यदि आप म्युचुअल फंड में निवेश करते हैं, तो यह आपको आय का दूसरा और मजबूत स्रोत प्रदान करता है। आज से ही अपनी आय का एक हिस्सा म्यूचुअल फंड में निवेश करना शुरू करें और भविष्य में करोड़पति बनें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copy Right By 2020 @ EARNING BLOGGING (MITHLESH MAURYA)