इन 4 जापानी रहस्यों से खोलिये सफलता का ताला

इन 4 जापानी रहस्यों से खोलिये सफलता का ताला

इन 4 जापानी रहस्यों से खोलिये सफलता का ताला

जापान एक ऐसा देश जिसके बारे में कोई नहीं जानता। 1945 में दो परमाणु बमों से पूरी तरह तबाह जापान फिर से वापस आ गया। आज जापान अर्थव्यवस्था के मामले में दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा देश है। यहां के लोग लंबी उम्र जीते हैं। जापान के लोग इतने अनुशासित हैं कि अगर यहां ट्रेन किसी वजह से एक सेकेंड भी लेट हो जाती है तो कर्मचारी हर यात्री से माफी मांगते हैं.

4 जापानी दर्शन
आज के इस लेख में हम आपको 4 जापानी दर्शन बता रहे हैं जिन्हें अपनाकर आप अपनी सफलता सुनिश्चित कर सकते हैं-

1. वबी सबी
वबी सबी का अर्थ है अपूर्णता में पूर्णता खोजना। जापान में माना जाता है कि प्रकृति में कुछ भी एक जैसा नहीं है और प्रकृति ने जो कुछ भी बनाया है वह अपने आप में संपूर्ण है। हम कई बार देखते हैं कि हम अपनी कमजोरियों को लेकर दुखी रहते हैं, जिससे हम अपनी खूबियों को नजरअंदाज कर देते हैं।

मशहूर संगीतकार रवींद्र जैन जन्म से ही देख नहीं पाते थे, चाहते तो औरों की तरह अपनी कमजोरी पर दुखी होते। लेकिन उन्होंने अपने अंदर छिपी प्रतिभा को पहचाना और एक महान संगीतकार बने। अगर आप भी जीवन में सफल होना चाहते हैं तो वबी सबी पर विश्वास करें और अपनी छुपी हुई प्रतिभा या अपनी ताकत को पहचानें।

2. काइज़न
काइज़न का अर्थ है निरंतर सुधार। अगर आप खुद में कुछ बदलाव लाना चाहते हैं तो शुरुआत छोटे-छोटे कदमों से कर सकते हैं। जब आप अपनी दिनचर्या में छोटे-छोटे सकारात्मक बदलाव करते हैं और उन बदलावों पर लगातार टिके रहते हैं, तो आप देखेंगे कि ये छोटे-छोटे बदलाव आपको जीवन में आगे चलकर बहुत बड़ा लाभ दे सकते हैं।

इसे आप इस तरह समझ सकते हैं कि जब कोई व्यक्ति म्यूचुअल फंड में हर महीने महज 500 रुपये का निवेश करता है तो यह उसे बहुत छोटा निवेश लगेगा। लेकिन जब यह निवेश कुछ सालों तक लगातार किया जाता है तो यह आपको उम्मीद से ज्यादा रिटर्न देता है।

3. आंदोलन
जीवन में परेशानियां और चुनौतियां सबके सामने आती हैं, लेकिन कुछ इन चुनौतियों से हार जाते हैं और कुछ इन चुनौतियों का सामना कर जीवन में सफल हो जाते हैं। जापानी अवधारणा “गमन” इसी पर जोर देती है। हम जितने भी सफल लोगों को देखते हैं, उनके जीवन में कई परेशानियां भी आईं, लेकिन उन्होंने उन समस्याओं का सामना करके ही जीवन में सफलता हासिल की है।

4. शिकिता गा न्यू
श्रीमद भगवद गीता में कहा गया है कि “कर्म करो, फल की इच्छा मत करो।” जापानी कहावत “शिकिता गा नै” का भी यही अर्थ है। इस अवधारणा के अनुसार हमें केवल उन्हीं चीजों की चिंता करनी चाहिए जो हमारे हाथ में हैं। उदाहरण के लिए, हम किसी भी कार्य के परिणाम का निर्धारण नहीं कर सकते, हमें अपने हाथ में मेहनत करनी पड़ती है। इसलिए हमें कड़ी मेहनत करनी चाहिए, अपनी मेहनत के आधार पर हमें फल मिलेगा।

उपरोक्त सभी अवधारणाएँ जापान के लोगों के जीवन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा हैं। ऐसी कई अवधारणाओं पर अमल कर जापान ने सफलता हासिल की है। अगर आप भी सुखी, समृद्ध और सफल जीवन जीना चाहते हैं तो आज से ही इन अवधारणाओं को अपने जीवन में अपनाना शुरू कर दें।

उम्मीद है आपको आज का यह article पसंद आया होगा। इसके बारे में अपने विचार हमें कमेंट करके जरूर बताएं। इसके अलावा, यदि आप एक व्यवसायी हैं और अपने व्यवसाय में कठिनाइयों का सामना कर रहे हैं और अपने स्टार्टअप व्यवसाय को आगे बढ़ाने के लिए किसी व्यक्तिगत व्यावसायिक कोच से अच्छा मार्गदर्शन प्राप्त करना चाहते हैं, तो आपको एनीबॉडी कैन अर्न का चयन करना चाहिए, ताकि आप अपने लिए पैसा कमा सकें। व्यापार। आप व्यापार में अच्छी पकड़ बना सकते हैं और अपने व्यवसाय को चार गुना बढ़ा सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copy Right By 2020 @ EARNING BLOGGING (MITHLESH MAURYA)