Basic SEO Terms in Hindi 2020 | Basic Terms Of Seo

Basic SEO Terms in Hindi 2020 | Basic Terms Of Seo

Contents View hide
1 Basic SEO Terms in Hindi 2020 | Basic Terms Of Seo
2 बुनियादी एसईओ नियम और उनके अर्थ- Basic Seo Terms और उनके Meanings

Basic SEO Terms in Hindi 2020 | Basic Terms Of Seo

आज हम कुछ बुनियादी एसईओ नियम और उनके अर्थ के बारे में जानते हैं। एसईओ (खोज इंजन अनुकूलन) है। जब आप Google खोज इंजन में कुछ खोज करते हैं, तो यह आपको इसके परिणाम दिखाता है। आप केवल वे परिणाम देखते हैं जो आपके खोज शब्द से मेल खाते हैं। जो भी ब्लगर और वेबसाइट के मालिक हैं, वे एपें कंटेंट इस तरह से अनुकूलित करते हैं कि वे खोज परिणाम में आते हैं। यह एसईओ कहते हैं। यदि आप डिजिटल मार्केटिंग में रुचि रखते हैं, तो इसके बारे में जानना बहुत आवश्यक है। एसईओ की कई शर्तें हैं, यदि आप उनके बारे में नहीं जानते हैं तो आप इसे समझ नहीं पाएंगे।

जब तक आप अंग्रेजी अक्षर (A 2 Z) नहीं जानते, आप कोई भी शब्द या वाक्य नहीं बना पाएंगे। इसी तरह, एसईओ के बुनियादी नियमों के बारे में जानना महत्वपूर्ण है। मैंने आपको SEO के कुछ नियम और उनके अर्थ नीचे दिए हैं। अब उन्नत में जाने से पहले आप उन्हें लागू करना चाहते हैं। ऐसे तो आप सभी शर्तों को धीरे धीरे करके याद रहें, जब आप इनका व्यावहारिक उपयोग करोगे तो।

बुनियादी एसईओ नियम और उनके अर्थ- Basic Seo Terms और उनके Meanings

अल्टर टेक्स्ट: -Anchor Text:-इट इमेजेज इन यूज्ड हो जाता है। इसकी मदद से खोज इंजन को पता चल जाता है कि यह छवि किस के बारे में है।

लंगर पाठ Alter Text:-एक दूसरे पेज को शामिल करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। आप इसे छवियों में भी उपयोग कर सकते हैं।

Backlinks: यह आपकी साइट के लिए किसी अन्य साइट से बनाया गया है।

Black Hat SEO: इस तकनीक का उपयोग आपकी साइट को सर्च इंजन में जल्दी रैंक करने के लिए किया जाता है। लेकिन यह सुरक्षित नहीं है और आप पर तुमसे लगने का खतरा भी है।

कीवर्ड:Keywords– यह एक वाक्यांश या वाक्य है, जिसे लोग खोज इंजन में खोज करते हैं। Keywords के दो प्रकार हैं; शॉर्ट टेल की-वर्ड और लॉन्ग टेल की-वर्ड। जो कीवर्ड 1-3 तक के वर्ड के साथ बने रहते हैं, उन्हें शॉर्ट टेल Keywords कहा जाता है और अधिक वर्ड के कीवर्ड वाले को लॉन्ग टेल Keywords कहा जाता है।

मेटा डेटा: Google खोज इंजन, परिणाम को ठीक से दिखाने के लिए इसका उपयोग करता है।

मेटा शीर्षक: यह आपकी पोस्ट या वेबसाइट का शीर्षक है जो आपके कंटेंट का सेही से वर्णन करता है।

मेटा विवरण: इसका उपयोग खोज इंजन में सामग्री का वर्णन करने के लिए किया जाता है।

Meta Data: Google Search Engine, Resultकोई अनुसरण विशेषता नहीं: यह लंगर पाठ में उपयोग की जाने वाली विशेषता है। इससे खोज इंजन समझ जाते हैं कि आप उस नंबर को अनुसरण नहीं कर रहे हैं। इसका उपयोग बाहरी लिंक में किया जाता है।

On Page SEO: वह तकनीक जो आप अपनी वेबसाइट या ब्लॉग पोस्ट को SEO फ्रेंडली बनाने के लिए अपनी साइट में उपयोग करते हैं, ऑन पेज Seo कहलाती है। इसमें आपको Text, Images, Tag, URL Structure, Internal Links, Headers को Optimized करना होता है।

ऑफ पेज एसईओ: सर्च इंजन में अपनी वेबसाइट की रैंकिंग स्थिति को बेहतर बनाने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली तकनीक को ऑफ पेज SEO पेज सर्च हो जाता है।

Robot.txt फाइल: यह फाइल रोबोट के साथ संचार करने वाला एक सर्च इंजन है और उन्हें बताता है कि कौन सी साइट को इंडेक्स करना है और किस पेज को इंडेक्स करना है और कौन सा पेज नहीं करना है।

पेजरैंक: Google हर वेबसाइट और पेज को उनकी साइट और एसईओ स्कैन की गुणवत्ता को देखते हुए 0 से 10 तक रैंक देता है। जिसका जितना ज्यादा उसका पेज और पोस्ट गूगल में उतने अच्छे रैंक होते हैं।

SEO (सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन): यह आपकी वेबसाइट के सर्च इंजन स्क को बेहतर बनाने की एक प्रक्रिया है। अच्छा एसईओ यह तय करता है कि आपका पृष्ठ किस खोज परिणाम पृष्ठ में दिखाई देगा।

Sitemap: Sitemap: साइटमैप में आपके ब्लॉग या वेबसाइट की सभी सामग्री का विवरण होता है। यह खोज इंजन में भेजना से वे आपके सभी पृष्ठों को अच्छी तरह से पढ़ सकते हैं।

White Hat SEO: यह अच्छी गुणवत्ता एसईओ तकनीक कहा जाता है। आपके पेज को रैंक करने में थोडा समय लगता है, लेकिन आप पेनल्टी से पूरी तरह सुरक्षित हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copy Right By 2020 @ EARNING BLOGGING (MITHLESH MAURYA)