2023 में इन टिप्स को अपनाकर बनें Smart Entrepreneur

2023 में इन टिप्स को अपनाकर बनें Smart Entrepreneur

2023 में इन टिप्स को अपनाकर बनें Smart Entrepreneur

साल 2023 की शुरूआत हो गई है। इसी के साथ नए लक्ष्य और नई चुनौतियों का भी आरंभ हो गया है। बिज़नेस के क्षेत्र में उतार-चढ़ाव हर साल बने रहते हैं। लेकिन जो विपरीत परिस्थिति में भी अपने बिज़नेस को कायम रख पाता है वही स्मार्ट आंत्रप्रेन्योर कहलाता है। तो अगर आप भी इस साल अपना बिज़नेस शुरू करना चाहते हैं, या बिज़नेस कर रहे हैं तो आपको एक स्मार्ट आंत्रप्रेन्योर बनना होगा।

एक आंत्रप्रेन्योर के सामने बिज़नेस शुरू करते ही कई चुनौतियां सामने आ जाती हैं। कानूनी मुद्दे, फाइनेंस, बोद्धिक संपदा, मार्केटिंग, प्रोडक्शन, HR जैसी कई चीजें बिज़नेस बढ़ाने की राह मे आ जाती हैं। लेकिन एक स्मार्ट आंत्रप्रेन्योर इन सभी चुनौतियों को पार कर बिज़नेस के क्षेत्र में आगे बढ़ता है।

आंत्रप्रेन्योरशिप में नए विचारों की लगातार खोज, जिम्मेदारी लेने की इच्छा, मन को किसी काम में लगाने की इच्छा और इसे शुरू करने से लेकर पूरा होने तक देखना शामिल है। जो इंसान किसी बिज़नेस आइडिया के साथ मार्केट में उतरता है और धीरे-धीरे उस बिज़नेस को अपनी रणनीति का इस्तेमाल करके आगे चलकर के एक बड़े बिज़नेस में तब्दील कर देता है, वही साही मायने में स्मार्ट आंत्रप्रेन्योर होता है।

इसलिए आज के इस लेख में हम आपको 5 ऐसी ज़बरदस्त टिप्स देंगे जो आपको एक सफल आंत्रप्रेन्योर बनाने में अहम भूमिका निभा सकती हैं।

फंड करें इकट्ठा

आप तब तक एक स्मार्ट आंत्रप्रेन्योर नहीं बन सकते हैं जब तक आपके पास पैसे न हो या पैसों का प्रबंध करने का ज़रिया न हो। इसे फंडरेजिंग कहा जाता है। किसी भी बिज़नेस को शुरू करने के लिए अच्छे आइडिया के साथ-साथ अच्छे पैसों की भी ज़रूरत होती है। एक स्मार्ट आंत्रप्रेन्योर वही कहलाता है जो अपने निवेशकों के जरिए फंड इकट्ठा कर लेता है। बिज़नेस को शुरू करने के लिए आपको इस बात की जानकारी होनी चाहिए कि आप जो बिज़नेस चालू करना चाहते हैं, उसमें कितना इन्वेस्टमेंट आपको करना पड़ेगा और आपको अपने बिज़नेस के लिए कौन सी मशीनें लानी पड़ेगी, साथ ही कारीगर और उनकी सैलरी के बारे में भी आपको जानकारी प्राप्त करनी होगी। फंड इकट्ठा करना आसान नहीं बल्कि एक लंबा प्रोसेस है। आपकी कंपनी में निवेश करने के लिए एंजल इंवेस्टर या पूंजीपतियों को मनाने के लिए बहुत प्रयास करना पड़ता है। आप किसी एक निवेशक के भरोसे नहीं रह सकते। इसलिए आपको एक साथ मल्टीटास्कर बनकर बिज़नेस के लिए फंड जुटाना चाहिए तभी आप एक स्मार्ट आंत्रप्रेन्योर बन पाएंगे।

सही बिज़नेस का करें चुनाव

अगर आप बिज़नेस शुरू करना चाहते हैं, या कर चुके हैं तो आपको यह देखना होगा कि आपने जो बिज़नेस शुरू किया है क्या वो आपके लिए सही है? कहीं ऐसा तो नहीं आप दूसरों को देखकर बिज़नेस शुरू करने आ गए हों, क्योंकि जब तक आपकी रूचि आपके बिज़नेस में नहीं होगी आप स्मार्ट आंत्रप्रेन्योर नहीं बन पाएंगे। इसलिए किसी भी प्रकार के बिज़नेस को शुरू करने के लिए आपके पास एक यूनिक बिज़नेस आइडिया होना चाहिए क्योंकि मार्केट में आज कई बिज़नेस आइडिया मौजूद हैं, आपका बिज़नेस आइडिया उनसे ज्यादा अलग तो नहीं लेकिन खास ज़रूर होना चाहिए। आपके पास उसका पूरा प्लान होना चाहिए। आपको पता होना चाहिए कि आपका बिज़नेस किस के लिए है, आपकी टार्गेट ऑडियंस कौन है, आपको अपना प्रोडक्ट किन्हें बेचना है, इत्यादि। जब आप इन चीज़ो को तय कर लेगें और आगे बढ़ेंगे तो आप मार्केट के रिस्क को कम कर देंगे और एक स्मार्ट आंत्रप्रेन्योर बनने की दिशा में आगे बढ़ेंगे।

रिस्क लेने से पीछे न हटें

एक स्मार्ट आंत्रप्रेन्योर वही होता है जो बिज़नेस की चुनौतियों से नहीं घबराता और कठिन निर्णय लेता है। कोई भी बिज़नेस बिना रिस्क के किया ही नहीं जा सकता। अगर आप रिस्क नहीं ले सकते तो आप बिज़नेस भी नहीं कर सकते। साल 2023 में भी कई चुनौतियां आपका इंतज़ार कर रही होगी लेकिन उनसे हार मानने की बजाय आपको उनका सामना करना होगा। कई लोग ऐसे होते हैं जो अपनी ज़िंदगी में जोखिम उठाने से डरते हैं, इसके कारण उनके पास बिज़नेस आइडिया होते हुए भी वह अपने बिज़नेस आइडिया को ग्राउंड पर नहीं उतार पाते हैं। बिज़नेस में आपको कई बड़े फैसले लेने होते हैं। अगर आप बिना जीत-हार की परवाह किए बड़े निर्णय ले सकते हैं तो आप एक स्मार्ट आंत्रप्रेन्योर भी बन सकते हैं।

अच्छी लीडरशिप स्किल्स डेवलप करें

एक स्मार्ट आंत्रप्रेन्योर नहीं होता है जो अच्छी लीडर होता है। बिज़नेस में आप कोई भी काम किसी से बॉस बनकर नहीं करवा सकते। जब तक आप अपनी कंपनी में खएक लीडर के रूप में पेश नहीं आएंगे तब तक आपकी कंपनी का कोई भी एम्पलॉयी पूरे दिल से काम नहीं करेगा। आपको एक लीडर के रूप में पूरी टीम को साथ लेकर चलने का हुनर आना चाहिए। इसके लिए आपको अपने अंदर लीडरशिर स्किल्स को डेवलोप करना होगा क्योंकि जब आपकी लीडरशिप स्किल्स अच्छी होगी, तभी आप अपने साथ काम करने वाले एम्प्लोयी के साथ अच्छा व्यवहार कर पाएंगे और उनसे अच्छा काम करवा पाएंगे। कुछ काम ऐसे होते हैं, जिन्हें करवाने के लिए आपको दूसरे लोगों पर निर्भर रहना पड़ता है। ऐसे में अगर आपका लीडरशिप कौशल अच्छा है, तो आप आसानी से दूसरे लोगों से काम करवा सकेंगे और तभी आप एक स्मार्ट आंत्रप्रेन्योर बन पाएंगे।

हर समस्या का समाधान ढूंढें

एक स्मार्ट आंत्रप्रेन्योर वही होता है जिसके पास हर समस्या का समाधान होता है। बिज़नेस में आए दिन नई-नई चुनौतियां आती रहती है। कभी एम्पलॉयी की समस्या तो कभी ग्राहकों की समस्या, कभी प्रोडक्ट तो कभी मार्केट के उतार-चढ़ाव। बिज़नेस में आए दिन नई-नई समस्याओं का सामना करना पड़ता है। लेकिन जो अपनी सूझबूझ से इन समस्याओं का समाधान ढूंढ लेता है वही एक स्मार्ट आंत्रप्रेन्योर बनता है। कई लोग ऐसे होते हैं, जो किसी भी प्रॉब्लम के सामने आने के बाद काफी जल्दी घबरा जाते हैं और उस प्रॉब्लम से हार मान लेते हैं, लेकिन एक स्मार्ट आंत्रप्रेन्योर कभी भी प्रॉब्लम से हार नहीं मानता है, क्योंकि उसे पहले से ही यह पता होता है कि बिज़नेस को स्थापित करने के रास्ते में उसे कई कठिनाइयां आएंगी और अगर वो इनके सामने हार मान जाएगा तो बिज़नेस को आगे नहीं ले जा पाएगा। इसलिए हर हार में एक सीख ढूंढिए और सीखते हुए एक स्मार्ट आंत्रप्रेन्योर बनिए।

यह 5 टिप्स साल 2023 में आंत्रप्रेन्योर को स्मार्ट आंत्रप्रेन्योर बनने में मदद करेंगी। आप इनकी मदद से अपने बिज़नेस के उतार-चढ़ाव में खूबियां देख सकते हैं और चुनौतियों से निपटकर अपने बिज़नेस को नई सफलता दिला सकते हैं।


लेख के बारे में आप अपनी टिप्पणी को कमेंट सेक्शन में कमेंट करके दर्ज करा सकते हैं। इसके अलावा आप अगर एक व्यापारी हैं और अपने व्यापार में कठिन परेशानियों का सामना कर रहे हैं और चाहते हैं कि स्टार्टअप बिज़नेस को आगे बढ़ाने में आपको एक पर्सनल बिज़नेस कोच का अच्छा मार्गदर्शन मिले तो आपको PSC (Problem Solving Course) का चुनाव ज़रूर करना चाहिए जिससे आप अपने बिज़नेस में एक अच्छी हैंडहोल्डिंग पा सकते हैं और अपने बिज़नेस को चार गुना बढ़ा सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copy Right By 2020 @ EARNING BLOGGING (MITHLESH MAURYA)